केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ)

  • केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय देश में सांख्यिकीय क्रियाकलापों में समन्‍वय करता है और सांख्यिकीय मानक तैयार करता है। इसके प्रमुख महानिदेशक होते हैं, जिनके सहयोग के लिए पांच अपर महानिदेशक होते हैं। सीएसओ के निम्‍नलिखित प्रभाग हैं:

    1. राष्‍ट्रीय लेखा प्रभाग (एनएडी) : यह प्रभाग राष्‍ट्रीय लेखे तैयार करने के लिए जिम्‍मेदार है, जिनमें सकल घरेलू उत्‍पाद, सरकारी और प्राइवेट अंतिम खपत व्‍यय, स्‍थायी पूंजी निर्माण और अन्‍य स्‍थूल-आर्थिक एकीकृत कार्य भी शामिल हैं। यह प्रभाग एक वार्षिक प्रकाशन तैयार करता है, जिसका नाम है – 'राष्‍ट्रीय लेखा सांख्यिकी', जिसमें ये सांख्यिकी दी जाती है। इस प्रभाग के अन्‍य महत्‍वपूर्ण क्रियाकलाप इस प्रकार हैं:

      1. वर्तमान और स्थिर कीमतों पर सकल घरेलू उत्‍पाद (जीडीपी) का तिमाही अनुमान तैयार करना;

      2. स्‍थायी पूंजी के पूंजी स्‍टॉक और खपत का अनुमान तैयार करना;

      3. राज्‍य-वार सकल मूल्‍य संवर्धन का अनुमान तैयार करना और रेलवे, संचार, बैंकिंग तथा बीमा और केंद्र सरकारी प्रशासन के सुपरा क्षेत्रीय क्षेत्रों की सकल स्‍थायी पूंजी तैयार करना; और

      4. निवेश-प्रतिफल संव्‍यवहार तालिका (आईओटीटी) तैयार करना और राज्‍य घरेलू उत्‍पाद (एसडीपी) के तुलनात्‍मक अनुमान तैयार करना।

    2. सामाजिक सांख्यिकी प्रभाग (एसएसडी) : इस प्रभाग को मिलेनियम डेवलपमेंट गोल, पर्यावरण संबंधी आर्थिक लेखाकरण, आधिकारिक/ अनुप्रयुक्‍त सांख्यिकी के संबंध में अनुसंधान, कार्यशाला/ संगोष्‍ठी/ सम्‍मेलन आयोजित करने के लिए सहायता अनुदान देना, सांख्यिकी बिलों के लिए राष्‍ट्रीय/अंतर्राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार, सामाजिक-धार्मिक वर्गों पर राष्‍ट्रीय डेटा बैंक (डीएनबी) तैयार करना, स्‍थानीय स्‍तरीय विकास के लिए बुनियादी सांख्यिकी प्रायोगिक योजना बनाना, समय उपयोग सर्वेक्षण तथा नियमित और तदर्थ सांख्यिकीय प्रकाशन जारी करना।

    3. आर्थिक सांख्यिकी प्रभाग (ईएसडी) : यह प्रभाग आर्थिक गणना और वार्षिक औद्योगिक सर्वेक्षण (एएसआई) करता है, अखिल भारतीय औद्योगिक उत्‍पादन सूचकांक (आईआईपी), ऊर्जा सांख्यिकी तथा बुनियादी ढांचा सांख्यिकी का संकलन करता है और राष्‍ट्रीय औद्योगिक वर्गीकरण (एनआईसी) और राष्‍ट्रीय उत्‍पाद वर्गीकरण (एनपीसी) जैसे वर्गीकरण तैयार करता है।

    4. प्रशिक्षण प्रभाग : इस प्रभाग की मुख्‍य जिम्‍मेदारी जनशक्ति को सांख्यिकी के सिद्धांतों और अनुप्रयोगों का प्रशिक्षण देना है ताकि साक्ष्‍य आधारित नीति बनाने और योजना तैयार करने, उसकी मॉनीटरिंग करने और मूल्‍यांकन करने के लिए अपेक्ष‍ित डेटा संकलन मिलान, विश्‍लेषण और प्रसारण की उभरती हुई चुनौतियों का सामना किया जा सके। यह प्रभाग राष्‍ट्रीय सांख्यिकीय प्रणाली प्रशिक्षण अकादमी (एनएसएसटीए) की भी देखरेख करता है, जो भारत में आधिकारिक सांख्यिकी में मानव संसाधन विकास और अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर, विशेषत: विकासशील और सार्क देशों के लिए भी एक प्रमुख संस्‍थान है।

    5. समन्‍वय और प्रकाशन प्रभाग (सीएपी) : यह प्रभाग सीएसओ और संबंधित मंत्रालयों तथा राज्‍य/संघ राज्‍य क्षेत्र की सरकारों के साथ सांख्यिकी मामलों, केंद्र और राज्‍य सांख्यिकीय संगठनों (सीओसीएसएसओ) की गोष्‍ठियों के आयोजन के कार्य को देखता है और प्रति वर्ष 'सांख्यिकी दिवस' मनाता है, रिजल्‍ट फ्रेमवर्क प्रलेख (आरएफडी), नागरिक/ग्राहक चार्टर तथा वार्षिक कार्य योजना, परिणाम बजट और मंत्रालय की वार्षिक योजना तैयार करता है। यह प्रभाग क्षमता विकास योजना और भारत सांख्यिकी सुदृढ़ीकरण परियोजना (आईएसएसपी) के कार्यान्‍वयन के लिए भी जिम्‍मेदार है। ये योजनाएं विश्‍व बैंक की सहायता से केंद्र द्वारा प्रायोजित योजनाएं हैं। यह प्रभाग सांख्यिकी संग्रहण अधिनियम, 2008 को लागू करने और एनएससी की सिफारिशों के कार्यान्‍वयन पर अनुवर्ती कार्रवाई के समन्‍वय के लिए एक नोडल प्रभाग है। भारतीय सांख्यिकीय संस्‍थान (आईएसआई) से संबंधित प्रशासनिक कार्य भी सीएपी प्रभाग देखता है।

Back to Top